लिंग की परिभाषा – What is Ling (Gender)

शब्द के जिस रूप से पुरुष जाति अथवा स्त्री जाति का बोध हो, उसे ‘लिंग’ कहते हैं।
लिंग का अर्थ है-‘चिह्न’। अतः जिस चिह्न के द्वारा शब्द के स्त्री जाति या पुरुष जाति के होने का बोध हो, उसे ही लिंग कहते हैं।

लड़का पढ़ रहा है।
लड़की खेल रही है
वाक्यों में लड़का/लड़की रहा/रही शब्दों की रूप-रचना में लिंग के प्रभाव के कारण परिवर्तन हो रहा है।

लिंग के निम्नलिखित दो ही भेद माने गए हैं :

(क) पुंलिंग (Masculine Gender)
(ख) स्त्रीलिंग (Feminine Gender)

(क) पुंलिंग : शब्द के पुरुष जाति के बोधक रूप को पुंलिंग कहते हैं;
जैसे-लड़का, पिता, फूल, पर्वत, पेड़, मुर्गा, बैल, आदि।

(ख) स्त्रीलिंग : शब्द के स्त्री जाति के बोधक रूप को स्त्रीलिंग कहते हैं;
जैसे-लड़की, माता, पत्ती, नदी, शाखा, मुर्गी, गाय, आदि।

हिंदी व्याकरण | संज्ञा | सर्वनाम | विशेषण | क्रिया | क्रियाविशेषण | वाच्य | अव्यय | लिंग | वचन | कारक | काल | उपसर्ग | प्रत्यय | समास | संधि | पुनरुक्ति | शब्द विचार | पर्यायवाची शब्द | अनेक शब्दों के लिए एक शब्द | हिंदी कहावत | हिंदी मुहावरे | अलंकार | छंद | रस

8 Comments on Ling (लिंग) in Hindi Grammar

  1. लडाई और मोती शब्द किस प्रकार का लिंग है? यदि स्त्रीलिंग हो तो इसका पुलिंग लिखे या पुलिंग हो तो स्त्रीलिंग लिखने की कृपा करे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *